Visitors have accessed this post 73 times.

चचेरी बहन की शादी समारोह के दौरान करंट से झुलसे गांव पारली निवासी सेना के जवान की बुधवार को उपचार के दौरान दिल्ली के एक अस्पताल में मौत हो गई।बुलन्दशहर के अनूपशहर गंगा तट पर बृहस्पतिवार की शाम को पूर्ण सैन्य सम्मान के साथ जवान का अंतिम संस्कार किया गया। अनूपशहर क्षेत्र के गांव पारली निवासी गोविंद गिरी 32वर्ष अरुणाचल प्रदेश में संगरीला जिला कोमांइग में 269फील्ड रेजीमेंट मे नायक के पद पर तैनाद थे ।19नबंवर को पानीपत मे अपनी चचेरी बहन की शादी में शामिल होने के लिए गोविंद गिरी अपने घर आए हुए थे।बताया गया कि तभी छत से गुजर रही33हजार केवीए बिजली लाइन के करंट की चपेट में आकर वह बुरी तरह झुलस गए।गंभीर रूप से घायल जवान का दिल्ली के आर आर अस्पताल मे उपचार चल रहा था।जहाँ बुधवार को उपचार के दौरान गोविंद गिरी की मौत हो गई।गोविंद  गिरी की मौत की खबर से गांव पारली में कोहराम मच गया।
परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।गोविंद गिरी पर दो बच्चों का पिता था। गोविंद गिरी का पार्थिव शरीर बृहस्पतिवार को गांव पारली  पहुंच गई। इस दौरान आसपास के गांव से भी हजारों ग्रामीण अंतिम दर्शन के लिए पहुंचे।जब तक सूरज चंद रहेगा ,गोविंद गिरी तेरा नाम रहेगा ,जयघोष के साथ हजारों ग्रामीण व बाबूगढ़ छावनी के  जवानों की टोली अनूपशहर के गंगा मस्तराम घाट पहुंची, जहाँ पर सैन्य सम्मान के साथ गोविंद गिरी का अंतिम संस्कार किया गया। जिसमें की अनूपशहर के विधायक संजय शर्मा  की  ओर से उनके बडे भाई अशोक शर्मा, एसडीएम आनंद श्रीनेत, सीओ अतुल चौबे ,कोतवाली प्रभारी निरीक्षक अखिलेश गौड़ तथा सैन्य अधिकारियों ने अत्योष्टि से पहले पुष्प चक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। सैनिक टुकड़ी ने अत्योष्टि से पहले सैन्य सम्मान प्रदान किया
INPUT – VISHAL GARG

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here