Visitors have accessed this post 41 times.

सिकन्दराराऊ : हजरत इमाम हुसैन की याद में चेहल्लुम का पर्व रंजोगम के साथ मनाया गया। इस मौके पर मातमी जुलूस निकाला गया। जुलूस के रास्तों पर शांति एवं सुरक्षा के लिए पुलिस व प्रशासन के अधिकारी लगातार भ्रमण करते रहे। जुलूस के साथ भी पुलिस फोर्स लगा रहा।
मातमी जुलूस का इफ्तका हुसैन राजू रोबर्ट टेलर , सैयद इकबाल हुसैन टेलर व अनवर हुसैन के नेतृत्व में
करबला की जंग के किस्से बयान करते हुए हजरत इमाम हुसैन और उनके खानदान के लोगों द्वारा दिखाई गई बहादुरी के बारे में बताते चल रहे थे। उन्होंने कहा कि किस तरह हजरत इमाम हुसैन ने अपने उसूलों से समझौता नहीं किया। इस्लाम को बचाने की खातिर उन्होंने शहीद हो जाना पसंद किया। जंग के दौरान उनके परिवार और खानदान के लोगों को किन-किन मुसीबतों का सामना करना पड़ा। जुलूस में शामिल अकीदतमंद हजरत इमाम की शहादत के बारे में सुनते हुए गमगीन होते रहे। चारों ओर जुलूस में या हुसैन..या हुसैन की आवाजें गूंज रही थीं।
जुलूस जामा मस्जिद के पीछे से शुरू होकर आर्य कन्या इंटर कालेज रोड से कनपुरिया तिराहा होता हुआ मस्जिद मार्केट में समाप्त हुआ । वही एम्बुलेंस की ब्यबस्था भी रही।
सुरक्षा व्यवस्था की कमान स्वयं कोतवाल अशोक कुमार सिंह, सिटी इंचार्ज भवानी शंकर शर्मा मय हमराह पुलिस व पीएसी बल के साथसंभाले हुए थे।

vinay

यह भी देखें :-