Visitors have accessed this post 83 times.

शादी का रिश्ता बहुत प्यारा और पवित्र होता है। चाहे वह लव मैरिज हो या अरेंज, दोनों में प्यार और विश्वास होना बेहद जरूरी है। अक्सर लोगों के मन में यह सवाल उठता है कि लव मैरिज और अरेंज मैरिज में से कौन सी ज्यादा अच्छी है। कुछ लोग यह धारणा बना लेते हैं कि लव मैरिज में व्यक्ति एक दूसरे के बारे में पहले से सब कुछ जानता है। ऐसे में आगे का जीवन बेहद बोरिंग हो जाता है। वहीं कुछ लोग यह भी धारणा बनाते हैं कि अरेंज मैरिज में एक दूसरे को नहीं जानते ऐसे में अगर भविष्य में उनके विचार नहीं मिले तो क्या होगा। इस कशमकश में लोग लव मैरिज और अरेंज मैरिज के बीच में अटक कर रह जाते हैं और परिवार के दबाव में आकर कोई भी कदम उठा लेते हैं। सबसे पहले पता होना जरूरी है कि लव मैरिज और अरेंज मैरिज में से कौन सा बेहतर है।ध्यान दें कि अरेंज मैरिज में लड़का लड़की का रिश्ता परिवार वाले करते हैं और उसके बाद जब परिवार वालों को लड़का लड़की पसंद आते हैं तो वे उन्हें मिलवा कर उनकी शादी पक्की करते हैं। अरेंज मैरिज में दोनों परिवार वालों की सहमति होती है। जबकि लव मैरिज में सबसे पहले लड़का लड़की एक दूसरे को पसंद करते हैं उसके बाद वे एक दूसरे से साथ रहने का फैसला करते हैं। फैसला करने के बाद वह परिवार वालों की सहमति जानते हैं। कभी-कभी ऐसा होता है कि परिवार वालों को लड़के की या लड़की की पसंद ज्यादा पसंद नहीं आती और वह सहमत नहीं होते। लेकिन लव मैरिज में लड़का लड़की परिवार वालों की सहमति को ज्यादा महत्व ना देते हुए एक दूसरे की सहमति पर ज्यादा जोर देते हैं।अरेंज मैरिज में लड़का लड़की एक दूसरे की पसंद नापसंद से अनजान रहते हैं। ऐसे में वे एक दूसरे को समझने जानने और पहचानने की कोशिश करते हैं यह भी अपने आप में एक अच्छा अनुभव होता है। साथ ही शुरुआत में ही घर वालों को साथ लेकर चलते हैं। इससे उनका आत्मविश्वास भी बढ़ता है।अरेंज मैरिज में लड़का लड़की अगर ड्रीम वेडिंग के बारे में सोच रहे हैं तो अरेंज मैरिज में ये सपना पूरा हो सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि दोनों परिवार मिलकर फंक्शन और बड़े-बड़े कार्यक्रम करते हैं जिससे शादी का पूरा लुफ्त उठाया जा सकता है।लव मैरिज में व्यक्ति पहले से ही पाटनर का स्वभाव, फैमिली, बैकग्राउंड, उसका नेचर आदि जान लेता है। ऐसे में लड़का लड़की शादी के बाद एक दूसरे को कम हर्ट करते हैं और एक दूसरे की पसंद का ख्याल रखते हैं।लव मैरिज में कई बार लोग आकर्षण को प्यार समझ लेते हैं जो कि शादी के बाद समझ आता है। इसके कारण रिश्ते की डोर थोड़ी हल्की हो जाती है।लव मैरिज में परिवार वालों का पूरा समर्थन नहीं होता है। ऐसे में बड़ों के अनुभव से लड़का लड़की वंचित रह जाते हैं और अपने शादीशुदा जीवन में कुछ गलतियां कर बैठते हैं।एक्सपर्ट की मानें तो मैरिज लव हो या अरेंज दोनों में इंटरेस्ट बनाए रखने के लिए समय-समय पर एक दूसरे को सरप्राइज देना या गिफ्ट्स देना बेहद जरूरी है। साथ ही पार्टनर एक दूसरे को आगे बढ़ने के लिए भी प्रेरित करे। इससे रिश्ता और मजबूत होता है। जब कभी दोनों के बीच में लड़ाई हो जाए तो बात बंद करने के बजाय उस लड़ाई की वजह को दूर करना बेहद जरूरी है। अगर आपको अपने पार्टनर से किसी भी प्रकार की शिकायत है तो दूसरों से कहने की बजाय अपने पार्टनर को शिकायत के बारे में बताएं और हल निकाले। अपने पार्टनर को क्वालिटी टाइम देना भी जरूरी है। घर की जिम्मेदारी और ऑफिस की जिम्मेदारी के बीच में थोड़ा समय एक दूसरे के लिए जरूर निकालें। ऐसा करने से चाहे शादी लव मैरिज या अरेंज दोनों में प्यार और विश्वास बरकरार रहेगा।

INPUT- JYOTI GOSWAMI