Visitors have accessed this post 65 times.

दिवाली के मौके पर धूम धड़ाम वाला माहौल होता है। इस दीपों के उत्सव में लक्ष्मी गणेश की पूजा होती है। तरह तरह के पकवान बनते हैं। लोग सज संवर कर तैयार होते हैं। दिवाली की पहचान प्रकाश या दीपों की जगमगाहट से होती हैं। ऐसे में घर -घर में इलेक्टाॅनिक लाइट्स और दीपक से सजावट की जाती हैं व आशियाने को रोशनी से जगमगाहच रहती है। अब दिवाली के दिन माता लक्ष्मी और गणेश जी का आगमन होता है। पूजा और सजावट करने से पहले घर की साफ सफाई की जाती है। वैसे तो दिवाली में घर की सफाई का काम एक दिन पहले यानी नरक चतुर्दशी के दिन होता है। दिवाली की सफाई करने के लिए सबसे पहले योजना बना लें कि कमरों की सफाई कब और केसै करनी है? किचन, ड्राइंग रूम, बाथरूम की सफाई कैसे की जाएगी?

-सबसे पहले घर के ऊपरी हिस्से की सफाई करें। जैसे दीवारों, फैन अलमारी की धूल साफ करें। सबसे आखिरी में फर्श को साफ करें।

-समय कम हो तो घर पर फैले सामान को पहले व्यवस्थित कर लें। ताकि घर कुछ खाली खाली लगें। मिल कर काम बांटे ताकि समय पर सफाई हो सके और एक व्यक्ति पर लोड न आए। साथी को उम्र और क्षमता के मुताबिक सफाई का काम दें।

-जो सामान काम का न हो, उसे जरूर हटा दें। इससे सामान व्यवस्थित होगा और घर साफ सुथरा लगेगा।

घर की सफाई में टाॅयलेट जरूर साफ करें। टॉयलेट सीट को गर्म पानी और स्पंज की मदद से धोएं। तब तक टाॅयलेट के ऊपरी हिस्से की सफाई कर दें। टॉयलेट क्लीनर को टॉयलेट सीट पर कुछ समय के लिए छोड़ें बाद में टॉयलेट ब्रश की मदद से साफ करें।  शावर, टब और वाॅश वेशिंग को भी साफ करें। किचन में धूल मिट्टी के अलावा तेल के दाग धब्बे दीवार और फर्श पर आ जाते हैं। इसे साफ करते समय डिश साॅप, गर्म पानी, स्क्रैच क्लीनर की मदद ले सकते हैं। किचन की दीवारों, रैंप और सिंक साफ करें। किचन में रखे डिब्बों आदि को भी झाढ़ पोछ लें। धब्बों से को साफ करने के लिए एल्बो ग्रीस का इस्तेमाल करें। गिलास और दूसरे नाजुक बर्तनों को एहतियात से धोएं। कमरे की सफाई करने के लिए अव्यवस्थित सामान को व्यवस्थित करें। बिखरे कागज,  बेड पर मौजूद चादर और कपड़ों को समेटें। अलमारी को व्यवस्थित करें। जिन कपड़ो को आप इस्तेमाल नही करतें, उन्हें हटा दें।

इसी तरह ड्राइंग रूम की भी सफाई करें। सोफा, मेज, शो पीसेज, या अन्य सामान की धूल साफ करने के साथ ही पाॅलिश करें ताकि सामान चमके।

INPUT- JYOTI GOSWAMI