Visitors have accessed this post 62 times.

एक तरफ प्रधानमंत्री मोदी जी भारत को डिजिटल बनाने का प्रयास कर रहे वहीं दूसरी तरफ साइबर ठग आए दिन नए नए तरीकों से आम जनता को ठगने का कार्य कर रहे हैं ऑनलाइन ठगी का ऐसा ही एक चौंकाने वाला मामला अलीगढ़ से सामने आया है जहॉं स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के एक बुजुर्ग ग्राहक सुभाष चंद सिंगल निवासी आदर्श नगर के खाते से साइबर ठगों ने टीम व्यूवर एप के द्वारा 27,000 रुपये पार कर दिए। सनातन प्रतिभा फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष कृष्णभक्त अभिषेक सक्सैना को जब इस ठगी का पता चला तो उन्होंने मानवता दिखाते हुए बुजुर्ग की सहायता की और तुरंत साइबर क्राइम हेल्पलाइन नंबर 1930 पर कॉल कर ऑनलाइन ठगी की शिकायत दर्ज करायी। इस बारे में ठगी का शिकार हुए सुभाष चंद जी ने बताया कि उनके वाॅटसप नंबर पर बिजली का भुगतान ना करने पर कनेक्शन काटे जाने का संदेश आया जिससे वो भयभीत हो गए। उस संदेश में कार्यवाही से बचने के लिए एक नंबर पर कॉल करने के लिए कहा गया था जब उन्होंने उस नंबर पर कॉल कर जानकारी की तो उस नंबर से बताया गया कि गूगल प्ले स्टोर से टीम व्यूवर एप डाउनलोड कर लीजिए और उससे अपना बिल तुरन्त जमा करें अन्यथा रात्री तक बिजली कनेक्शन काट दिया जाएगा। एप डाउनलोड करते ही उन के खाते से तीन बार में 9,999 रुपये, 10,000 रुपये, 7,000 रुपये इस तरह कुल मिलाकर 26,999 रुपये कट गए। जब उन्होंने रुपये कटने के संदेश चेक किए तो उन्हें अपने साथ हुई ठगी का पता चला क्यूंकि उनके खाते से एटीएम के द्वारा साइबर ठग द्वारा कुल 26,999 रुपये निकाल लिए गए थे जबकि उनका एटीएम उन्हीं के पास उपस्थित था। जब उन्होंने इसकी शिकायत थाना सासनी गेट पुलिस को दी तो पुलिस ने मामले को गंभीरता से ना लेकर उल्टा ठगी के शिकार को ही इधर से उधर चक्कर कटवा दिए। पुलिस प्रशासन का आम जनता से किया जाने वाला ऐसा व्यवहार बहुत ही चिंतनीय है। बुजुर्ग सुभाष चंद ने उत्तर प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री योगी जी से साईबर ठगों को गिरफ्तार कर ठगे गए रुपये वापिस दिला कर न्याय देने की मांग की है।

INPUT- BUERO REPORT

यह भी देखें :-