Visitors have accessed this post 84 times.

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद जिला हाथरस नगर इकाई सासनी के द्वारा वीरांगना झलकारी बाई की जयंती सरस्वती शिशु विद्या मंदिर में विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में विद्यालय के प्रधानाचार्य विपिन पालीवाल जी एवं मुख्य वक्ता के रूप में नगर अध्यक्ष अनिल शर्मा जी ने बताया कि झलकारी बाई (22 नवंबर 1830 – 4 अप्रैल 1857) झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई की नियमित सेना में, महिला शाखा दुर्गा दल की सेनापति थीं, वे लक्ष्मीबाई की हमशक्ल भी थीं इस कारण शत्रु को गुमराह करने के लिए वे रानी के वेश में भी युद्ध करती थीं। अपने अंतिम समय में भी वे रानी के वेश में युद्ध करते हुए वे अंग्रेज़ों के हाथों पकड़ी गयीं और रानी को किले से भाग निकलने का अवसर मिल गया। जिसमें मुख्य रुप से अनुपमा रानी, कामिनी सोनी, रजनीश, मोनिका शर्मा,अंशुल कुशवाह, साहिल गुप्ता, अभी त्रिवेदी, दीपेश गुप्ता आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

INPUT- DEV PRAKASH

यह भी देखें :-