Visitors have accessed this post 102 times.

सिकंदराराऊ : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का प्रमुख उत्सव श्री गुरु पूर्णिमा का कार्यक्रम आर्य कन्या इंटर कॉलेज स्थित दयानंद शाखा पर मनाया गया । जिसमें नगर संघचालक प्रवीण वार्ष्णेय एवं मुख्य वक्ता जिला प्रचारक मुनेंद्र ने भारत माता चित्र के समक्ष पुष्पार्चन करके कार्यक्रम का शुभारंभ किया ।
मुख्य वक्ता ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने गुरु के स्थान पर भगवा ध्वज को स्थापित किया हुआ है। आरएसएस भगवा ध्वज को त्याग और समर्पण का प्रतीक मानता है। इसके पीछे की वजह को वह सूर्य से जोड़कर बताते हैं, जो स्वयं जलकर भी पूरी दुनिया को प्रकाश बांटने का काम करता है। इसी वजह से दूसरों के प्रति अपना जीवन समर्पित करने वाले साधु, संत भगवा वस्त्र ही पहनते हैं। आरएसएस भगवा या केसरिया को त्याग का प्रतीक मानता है। संघ का यह भी मानना है कि व्यक्ति में कभी भी कोई खराबी या दुर्गुण आ सकते हैं। लेकिन त्याग का प्रतीक भगवा ध्वज हमेशा संदेश ही देगा। ऐसे में व्यक्ति की अपेक्षा ध्वज को गुरु मानना बेहतर है।
कार्यक्रम में जिला सहकार्यवाह प्रदीप गर्ग, नगर प्रचारक तुलसीदास , भगवान दास गुप्ता , सुभाष कुमार , विनोद गुप्ता , अंकुश माहेश्वरी , सौरभ वार्ष्णेय , पीयूष शर्मा , अखिल वार्ष्णेय , मनोज कुमार , राजेश भारद्वाज आदि उपस्थित रहे ।

INPUT – VINAY CHATURVEDI

यह भी देखें :-