Visitors have accessed this post 121 times.

सासनी (हाथरस) : कोरोना को लेकर लॉकडाउन शुरू होते ही जिला प्रशासन की ओर से लोगों को क्वारंटीन में रखने के लिए व्यवस्था शुरू की गई थी। सासनी में दिल्ली निजामुद्दीन से आए दर्जनभर से अधिक जमातियों की खबर लगते ही पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी हरकत में आए और न्यू बिजलीघर मस्जिद से लोगों को आनन-फानन में के एल जैन इंटर कालेज को क्वारंटीन बनाकर रख दिया। यहां उनकी जांच के लिए सेंपल लिए गये और जांच को भेजे गये। हालांकि इन जमातियों को सीमा सील होने से पहले क्वारंटीन किया गया था।

रिपोर्ट आने के बाद सासनी शहर और उसमें आने वाली सभी सीमा सील कर दी गई। उसके बाद ग्रामीण क्षेत्रों में परिषदीय विद्यालयों और बने सामुदायिक केन्द्रों में क्वारंटीन सेंटर बनाए गए, इसके बाद के एल जैन इंटर कालेज, सीमेक्स इंटरनेशनल स्कूल, प्रकाश एकाडमी को क्वारंटीन सेंटर बनाया गया। इन सेंटरों में 57 लोगों को रखा गया। इसके अलावा मुरसान में कोविड-19 सेंटर बनाया गया। जिसमें पॉजिटिव आने वाले मरीजों को रखा गया। अभी हाल में सासनी से इतवार को 11 लोगों को क्वारंटीन टायम समाप्त होने पर उन्हें घर भेजा गया है। इन क्वारंटीन सेंटरों में से ज्यादातर में समयानुसार कोरोना संदिग्धों के लिए भोजन व्यवस्था की गई है, जिससे क्वारंटीन रहने वाले लोगों भोजन समय से प्राप्त हो सके। क्वारंटाइन अवधि पूर्ण होने के बाद अन्य राज्यों के होने के कारण डिस्चार्ज नहीं किए गए हैं।

इनपुट : आविद हुसैन

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here