Visitors have accessed this post 60 times.

एक किशोरी के साथ दुष्कर्म करने के मामले में बुजुर्ग स्वयंभू संत आसाराम बापू को उम्रकैद की सजा मिलने से अभिनेत्री राखी सावंत काफी खुश हैं, लेकिन उन्होंने हैरत जताई है कि इस व्यभिचारी को फांसी की सजा क्यों नहीं सुनाई गई।

राजस्थान के जोधपुर स्थित अपने आश्रम में साल 2013 में 16 साल की एक लड़की के साथ दुष्कर्म करने के मामले में जोधपुर की अदालत ने आसाराम को बुधवार को दोषी करार दिया और उम्रकैद की सजा सुनाई।

राखी ने कहा, ‘मुझे बहुत खुशी है कि आसाराम को कड़ी सजा दी गई है। यह ऐसी सोच रखने वालों के लिए यह बहुत अच्छा उदाहरण है, खासकर जो लोग सोचते हैं कि वे अमीर और शक्तिशाली हैं तो महिलाओं और बच्चों के साथ गलत कर सकते हैं।’

उन्होंने कहा, ‘लेकिन इस मामले में मौत की सजा क्यों नहीं दी गई। लड़की नाबालिग थी, बच्चियों के साथ दुष्कर्म करने वालों को न बेल मिलनी चाहिए और न ही जिंदगी बख्शी जानी चाहिए।’

एक्टर-फिल्ममेकर फरहान अख्तर ने कहा, ‘आसाराम बच्चियों संग दुष्कर्म करने वाला शख्स है और वह दोषी पाया गया, लेकिन क्या लोग प्रधानमंत्री मोदी के साथ उनकी तस्वीरों को साझा करना बंद करेंगे। तस्वीर में मोदी उनके साथ खड़े हैं, यह कोई अपराध नहीं है। निष्पक्ष रहें।’

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here