Visitors have accessed this post 133 times.

यूपी में अभी गाज़ियाबाद में पत्रकार की हत्या की आवाज अभी ठंडी नही हुई है कि बलिया में बेख़ौफ़ बदमाशों ने पत्रकार की हत्या कर दी थी। एटा में एटा/कासगंज के पत्रकारों ने बलिया के वरिष्ठ पत्रकार रतन सिंह की निर्मम हत्या को दुखद जताते हुए उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए प्रदेश सरकार से पीड़ित परिवार को एक करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता, व परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी, एवं पत्रकार के हत्यारों को फांसी और पीड़ित परिवार को सुरक्षा देने की मांग की है l

एंकर-आपको बता दे कि गत दिवस बलिया जिले के फेफना थाना क्षेत्र के फेफना ग्राम में बेखौफ बदमाशों ने एक टीवी चैनल के पत्रकार रतन सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना को अंजाम देने के बाद हमलावर फरार हो गए। फेफना थाने के समीप हुई इस दुस्साहसिक घटना के बाद एटा में एकत्रित हुए एटा /कासगंज के पत्रकारों में उबाल आ गया। घटना की कड़ी निन्दा करते हुए पत्रकारों की सुरक्षा की माँग की हैं। जानकारी के अनुसार बलिया जिले के फेफना थाना क्षेत्र के निवासी पत्रकार रतन सिंह का गांव में पुराना मकान है। रतन सिंह की नया मकान रसड़ा फेफना मार्ग पर बना हुआ है। रात लगभग पौने 9 बजे रतन सिंह अपने पुराने मकान से नए मकान की तरफ लौट रहे थे कि बदमाशों ने दौड़ा लिया। वह भागते-भागते फेफना प्रधान सीमा सिंह के घर में घुसे, लेकिन बदमाशों ने घर में घुसकर सिर में गोली मार दी, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई।

इस मौके पर बैठक की अध्यक्षता कासगंज से आये वरिष्ठ पत्रकार प्रदीप गुप्ता ने की जबकि संचालन बबलू चक्रबर्ती ने किया इस मौके पर अकरम खान, अमोल श्रीवास्तव, कासगंज से सुबोध महेश्वरी, संदीप दीक्षित, अशोक शर्मा, राज वर्मा, एस.के माथुर, अजय वर्मा, भरत वर्मा, विलाल अंसारी, राहुल कुमार, योगेश यादव, वीरभान, रवि यादव, ज्ञानेश कुमार, जैथरा से दुर्गेश यादव आदि शहरी एवं कस्बाई पत्रकार मौजूद रहे ।

INPUT:RAHUL KUMAR