Visitors have accessed this post 36 times.

मेरठ में हापुड़ रोड स्थित गेल कंपनी के सीएनजी गैस स्टेशन पर रविवार को रौंगटे खड़े कर देने वाली जघन्य वारदात से सनसनी मच गई। सिर्फ पांच रुपये को लेकर हुए झगड़े में पंप कर्मचारी ने ऑटो चालक के प्राइवेट पार्ट में सीएनजी का पाइप डालकर गैस चालू कर दी। ड्राइवर का पेट फूलता गया और कुछ ही देर में तड़प-तड़पकर उसने दम तोड़ दिया। घटना का पता लगते ही मृतक के परिजन दौड़ते भागते मौके पर पहुंचे और बवाल कर दिया। पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर पंप के सात कर्मचारियों को हिरासत में लिया है।
खरखौदा के लोहियानगर में के-40 निवासी सिराज पुत्र नसीरुद्दीन ऑटो चालक था।

रविवार सुबह करीब 10 बजे वह हापुड़ रोड स्थित सीएनजी स्टेशन पर ऑटो में गैस भरवाने पहुंचा था। गैस भरवाने के बाद ड्राइवर ने पूरा पैसा देने के बाद बचे हुए पांच रुपये कर्मचारी से मांगे तो इसे लेकर दोनों के बीच विवाद हो गया। आरोप है कि इस दौरान कर्मचारी ने गैस का पाइप नोजिल सहित सिराज के प्राइवेट पार्ट के भीतर डाल दिया और गैस चालू कर दी।  पेट में गैस भरने से सिराज की हालत बिगड़ गई। आननफानन में स्टेशन कर्मचारी ऑटो में डालकर उसे जगदंबा हॉस्पिटल ले गए। यहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

सूचना पर सिराज के परिजन भी यहां पहुंच गए। उन्होंने शव को सड़क पर रखकर मेरठ-बुलंदशहर हाईवे जाम कर दिया। हंगामा बढ़ता देख स्टेशन कर्मचारी वहां से भाग निकले। जाम के दौरान कई वाहन चालकों ने निकलने का प्रयास किया तो विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों ने उनसे हाथापाई कर दी। इस दौरान पुलिस को लाठियां भी फटकारनी पड़ी। भीड़ ने सीएनजी स्टेशन पर तोड़फोड़ की भी कोशिश की।

Input: Rashid Khan

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here