Visitors have accessed this post 229 times.

हाथरस : पुलिस अधीक्षक विनीत जायसवाल द्वारा रिजर्व पुलिस लाइन हाथरस स्थित सभागार में जनपद के व्यापारीयो के साथ उनकी सुरक्षा व्यवस्था को और सुदृढ बनाने हेतु मीटिंग की । इस दौरान मीटिंग में अपर पुलिस अधीक्षक प्रकाश कुमार, क्षेत्राधिकारी नगर रूचि गुप्ता, क्षेत्राधिकारी सिकन्दराराऊ सुरेंद्र सिंह, क्षेत्राधिकारी सादाबाद ब्रहम सिंह, क्षेत्राधिकारी यातायात/कार्यालय शैलेन्द्र कुमार वाजपेई आदि सहित जनपद के सम्मानित व्यापारी बंधु मौजूद रहे । इस अवसर पर सर्वप्रथम पुलिस अधीक्षक द्वारा समस्त व्यापारीयो का पुलिस लाइन में स्वागत किया जिसके उपरांत उनकी समस्याओं को सुनकर त्वरित एवं प्रभावी निराकरण करने हेतु आश्वस्त किया। साथ ही व्यापारीयो को किसी भी तरह की अफवाहो पर ध्यान न देने तथा किसी भी अप्रिय घटना होने की आशंका होते ही तुरन्त थाना स्तर या डायल 112 पर सूचना देने व हर परिस्थिति में सहयोग देने के लिये आश्वस्त किया गया । पुलिस अधीक्षक द्वारा बताया गया कि सभी व्यापारी अपने-अपने प्रतिष्ठानों में सीसीटीवी कैमरे में अवश्य लगवाए व कम से कम दो कैमरे दुकान के बाहर इस तरह से लगवाए जिससे रोड पर होने वाली गतिविधियो एवं संदिग्ध व्यक्तियों पर नजर रखी जा सके । इसी क्रम में पुलिस अधीक्षक द्वारा व्यापारीयो को अवगत कराया गया कि कभी भी रुपयो का लेन देन करते समय पूरी सावधानी बरती जाये तथा ज्यादा कैश बैंक या अन्य जगह ले जाते समय पूरी सावधानी बरते तथा आवश्यकता पडने पर पुलिस का सहयोग ले जिससे कोई अप्रिय घटना घटित न हो सके । साथ ही पुलिस अधीक्षक द्वारा साईबर अपराधो से बचाव हेतु हाथरस पुलिस द्वारा साईबर कवच अभियान के तहत समस्त उपस्थित व्यापारी बंधुओ को पैम्फलेट्स वितरित कराकर सभी को साइबर अपराध की जानकारी दी गयी और बताया कि इंटरनेट के उपयोग की सही जानकारी होने पर साइबर अपराध से बचा जा सकता है।

इसी क्रम में एटीएम बूथ में ट्रांजेक्सन करते समय अन्य कोई व्यक्ति उपस्थित न रहे, बैंक के नाम पर टैलीफोन कॉल पर एटीएम/बैंक अकाउंट्स सम्बन्धी कोई जानकारी जैसे OTP , CVV नम्बर आदि कभी भी किसी से साझा न करे। इंश्यूरेंस कम्पनी, नौकरी.कॉम के नाम से कॉल किये जाने पर बिना वैरीफाई किये कोई जानकारी न दे। इसके अलावा सोशल मीडिया प्लेटफार्म जैसे व्हाट्सअप, ट्वीटर, फेसबुक व इंस्टाग्राम पर अपनी व्यक्तिगत जानकारी सार्वजनिक न करे क्योकि कोई भी व्यक्ति आसानी से आपकी जानकारी का इस्तेमाल कर दुरूपयोग कर सकता है। इस प्रकार के एप्स डाउनलोड किये जाते समय प्राईवेसी सम्बन्धी आप्शन का भली-भाती अवलोकन कर ही सहमती/असहमती देते हुए प्रक्रिया पूर्ण करें। फर्जी लॉटरी लगने का कॉल करने वालो को कभी अपनी बैंक की डिटेल शेयर न करे । टावर लगाने के नाम पर भी लोगो से ठगी की जाती है इससे बचने हेतु किसी अज्ञात बैंक खाता में पैसा जमा न करे । ठगो द्वारा फर्जी ऑफिस खोलकर, कम ब्याज दर पर अधिक लोन, बिना किसी कागज के आसानी से लोन दिलवाने हेतु फर्जी विज्ञापन प्रसारित किया जाता है और प्रोसेसिंग फीस के रुप में एकाउंट में रुपये जमा करा कर फरार हो जाते है । मोबाइल व सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट्स के सुरक्षित प्रयोग के बारे में भी बताया गया। छोटी-छोटी बातों को ध्यान में रखकर इंटरनेट प्रयोग किये जाने पर साइबर अपराध के शिकार होने से बचा जा सकता है। जागरूक बने और अपने धन की स्वयं सुरक्षा करने के सिद्वान्त पर काम करें ।

इनपुट :- ब्रजमोहन ठेनुआ

यह भी देखे  : हाथरस का सबसे ज्यादा वैरायटी वाला इलैक्ट्रोनिक गुड्स स्टोर

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.tv30ind1.webviewapp