Visitors have accessed this post 100 times.

  • मेकअप किट को बदलने का समय आ गया है।
  • त्वचा को हर 10 दिन में एक्सफोलिएट करने की सलाह दी जाती है।
  • स्टीम बाथ लेने से व्हाइट हेड्स और एक्ने की समस्या से भी छुटकारा मिलता है।

मानसून का मौसम दस्तक दे चुका है। इस सीजन जरूरी है कि हम अपनी त्वचा की देखभाल अच्छी तरह करें। तेज हवाएं त्वचा का तेल और नमी सोख लेती हैं। ऐसे में त्वचा को एक्स्ट्रा केयर की ज़रूरत होती है। इस दौरान मालिश, उबटन और संतुलित आहार के साथ अगर नैचुरल तरीका इस्तेमाल किया जाए तो खूबसूरती बनी रह सकती है।

क्रीम बेस्ड प्रोडक्ट

जब स्किन ड्राई होने लगे तो समझें कि मेकअप किट को बदलने का समय आ गया है। इस दौरान हलके वॉटर बेस्ड मॉयस्चराइज़र को थिक क्रीम बेस्ड मॉयस्चराइज़र से बदलें। ऐसे फेसवॉश व सनस्क्रीन का चयन करें, जो त्वचा की नमी को बरकरार रहने दे।

एक्सफोलिएट करें

इस मौसम में त्वचा पर ज्य़ादा क्रीम और अन्य प्रोडक्ट यूज़ करने से त्वचा के छिद्र बंद हो जाते हैं। त्वचा को हर 10 दिन में एक या दो बार एक्सफोलिएट करने की सलाह दी जाती है। इसके लिए एक जेंटल स्क्रब लें और उंगलियों को घुमाते हुए त्वचा पर मसाज करें, इससे मृत कोशिकाएं निकल जाएंगी और त्वचा साफ हो जाएगी। महीने में एक बार स्टीम लेना ज़रूरी है, इससे त्वचा मुलायम होती है। स्टीम बाथ लेने से व्हाइट हेड्स और एक्ने की समस्या से भी छुटकारा मिलता है। रोमछिद्रों के खुलने और मृत कोशिकाओं के निकलने से त्वचा साफ हो जाती है और मॉयस्चराइज़र को आसानी से सोखने का काम करती है।

 

ऑयल मसाज

खूबसूरत और स्वस्थ त्वचा पाने के लिए रोज़ाना सुबह उठने के बाद खुद को 15 मिनट दें। पूरे शरीर की हलके गुनगुने तेल से मसाज करें। चेहरे और सिर पर भी हलके हाथों से मालिश करें। तेल लगाने के करीब एक घंटे बाद ही बाथ लें। आमतौर पर लोग सर्दियों में अधिक गर्म पानी का इस्तेमाल करते हैं, जिससे त्वचा को नुकसान होता है। ध्यान रखें कि अधिक गर्म पानी से न नहाएं। नहाते समय पानी में कुछ बूंदें बेबी ऑयल, ऑलिव ऑयल और बॉडी ऑयल डालें। इससे पूरे दिन तो तरोताजा रहेंगे ही, त्वचा भी स्वस्थ और मुलायम बनी रहेगी।

त्वचा को पोषण दें

महीने में एक बार हाइड्रा फेशियल ज़रूर करवाएं, इससे डीप मॉयस्चराइजि़ंग होती है। यह फेशियल त्वचा को शुष्क होने से बचाता है। इससे त्वचा जवां होने के साथ-साथ चमकदार दिखती है और आपको रूखी त्वचा से छुटकारा मिलता है।

सनस्क्रीन का इस्तेमाल

गर्मियों की तरह इस मौसम में धूप तीखी नहीं होती, लेकिन इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि आप अपने सनस्क्रीन को पैक कर के रख दें। सर्दियों में हम ज़्यादा समय धूप में बिताते हैं, ऐसे में त्वचा को धूप से सुरक्षित रखना बेहद ज़रूरी है। धूप चाहे तीखी हो या न हो, अल्ट्रा वॉयलेट किरणें त्वचा के लिए हमेशा नुकसानदेह होती हैं। इससे बचने के लिए स्किन टाइप के अनुसार सनस्क्रीन चुनें।

मेकअप रिमूव करें

मेकअप रिमूव करते समय थिक क्लींज़र और टोनर का इस्तेमाल करें। इसके इस्तेमाल से त्वचा की नमी बरकरार रहती है। अगर आप अच्छे क्लींज़र की मदद से मेकअप को अच्छी तरह रिमूव नहीं करेंगी तो त्वचा के रोमछिद्र बंद हो सकते हैं और यह त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसलिए इसको यूज़ करना त्वचा के लिए बेहद ज़रूरी है। इसके अलावा दिन में दो बार अपना चेहरा धोएं।

 

डाइट भी है ज़रूरी

कहते हैं, हम जैसा खाएंगे, वैसे ही दिखेंगे। स्वस्थ त्वचा के लिए शरीर का स्वस्थ होना ज़रूरी है। सर्दियों में अपनी रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बनाए रखने के लिए पर्याप्त मात्रा में विटमिंस और खनिजयुक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें। पर्याप्त मात्रा में फल और सब्जि़यां खाएं। ओमेगा- 3 फैटी एसिड जैसे मछली, फ्लैक्स सीड्स और नट्स आदि का सेवन करें। इनसे त्वचा को पोषण मिलता है। दिन भर में लगभग 8-10 ग्लास पानी पीना भी ज़रूरी है।

जब हो जाए सनबर्न

अगर सनबर्न ज्य़ादा हो गया है तो खीरा, आलू, नींबू का रस और थोड़ी सी मुलतानी मिट्टी मिलाकर पेस्ट बना लें और उसे चेहरे के प्रभावित हिस्सों पर लगाएं। इस पैक को लगभग 15-20 मिनट तक सूखने दें। इसके बाद हथेलियों में थोड़ा पानी लगा कर हलके हाथों से चेहरे की मसाज करें और फिर ठंडे पानी से धो लें। इससे सनबर्न के निशान हलके होकर धीरे-धीरे खत्म हो जाएंगे। सनबर्न दूर करने के लिए टी बैग्स भी बहुत मददगार साबित होते हैं।

लिप केयर

जब होंठ सूखने लगें या उन पर लाइंस बनने लगें तो ऐसी मृत कोशिकाओं को हटाने के लिए इन्हें एक्सफोलिएट करना ज़रूरी है। एक्सफोलिएट करने के लिए चीनी, जोजोबा या ऑलिव ऑयल या फिर शहद लेकर होंठों पर हलके हाथों से मसाज करें।

फुट केयर

इस मौसम में एड़ियों के फटने की समस्या भी काफी होती है। इससे बचने के लिए समय-समय पर पेडिक्योर करवाते रहें। घर पर फुट केयर करने के लिए रात में गुनगुने पानी में शैंपू, नींबू और हाइड्रोजन पैराऑक्साइड की कुछ बूंदें मिलाकर उसमें पैरों को डुबोकर रखें। फिर फुट स्क्रबर से अच्छी तरह साफ करें। विंटर्स में पैरों को अच्छी तरह साफ करके उन पर विंटर लोशन क्रीम लगाएं। घर से बाहर निकलने से पहले सॉक्स पहनें। फुट नेल्स को गोलाकार में न काटें और उन पर नेल पेंट लगाकर रखें, इससे नाखूनों के खराब होने का डर नहीं रहेगा।

Input riya sharma

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here