Visitors have accessed this post 66 times.

एटा जनपद के जलेसर क्षेत्र के छोटे से गांव नगला सुखदेव के निवासी ठाकुर भानु प्रताप सिंह किसानों के लिए संघर्ष करतें ही करतें इतने बड़े विश्व विख्यात नेता बन गयें कि आप सुनेंगे तो हैरत में हर जाएंगे भानु प्रताप सिंह को दूसरें देश और विदेशों में भी पहचान मिलीं है। चीन जापान अमरीका में भानु प्रताप को लोग फाँलो करतें हैं। करोडों लोग भानू के फैन हैं विदेशों में सन 2011 में इलाहाबाद से दिल्ली तक एक माह में पैदल मार्च किया था ठाकुर देवकीनन्दन महाराज के साथ बरसाने के सन्त विरक्त बाबा रमेश के आदेशों पर यमुना बचाओ गंगा बचाओ तभी से विश्व विख्यात हो गयें ठाकुर भानू प्रताप सिंह दिल्ली में पहुकर जब कांग्रेस की सरकार केन्द्र में थी तब सोनियां गाँधी से मुलाकात हुई थीं मांगो को पूरा करनें के लिए लेकिन कांग्रेस ने मांग पूरी नहीं की भानू प्रताप सिंह इस वक्त दिल्ली के चिल्ला बार्डर से आंदोलन के लिए इस लिए हटे कि उनकीं जायज मांग मानने के लिए कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से ने भरोसा दिलाया कि आपकी मांग जायज हैं। और इन मांगो को देश के शक्तिशाली प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी के सामने और गृह मंत्री अमित शाह के सामने रखी जाएंगी यह भरोसा राजनाथ सिंह ने दिल्ली अपनें निजी आवास पर भानु प्रताप सिंह को दिलाया था। आन्दोलन से हटते ही लोग भानु प्रताप सिंह पर लोग आरोप लगाने लगें कि भानू प्रताप सिंह सरकार, से मिल गयें। लेकिन लोगों बात में कोई सच्चाई नहीं निकली प्रेस वार्ता के दौरान भानू प्रताप सिंह ने खंडन किया कि हमारी मांग देश में किसान आयोग का गठन किया जाएँ यह प्रमुख मांग हैं। और हमें विश्वास है कि पीएम मोदी हम से मिलकर किसान आयोग के गठन की मांग पूरी करेंगे वहीं दिल्ली में चल रहें कोरोना काल में आन्दोलन पर भानु प्रताप सिंह बोले कि ये पंजाब व भाकियू के राकेश टिकैत कांग्रेस पार्टी से फंडिंग लेके आन्दोलन कर रहें हैं। इनकी मांगो में और भाकियू भानु की मांगो में जमीन आसमान का अंतर है। भानु प्रताप सिंह ने टीकरी बार्डर पर हुये सामूहिक दुष्कर्म से बंगाल की महिला की मौत होने पर किसान नेताओं पर साधा निशाना कहाँ कि आन्दोलन की अगुवाई कर रहें हैं किसान नेताओं को खाने को मिल रहें है काजू बादाम और मिल रहीं थीं शराब इसलिए हवस के भेड़िए आंदोलन में आई महिला से दुष्कर्म कर गयें नशे के अंधे हो गयें ये किसान नहीं हो सकतें भानू प्रताप सिंह ने ये भी कहाँ जो असली किसान हैं। वो तो कोरोना काल में अपनें घर पर ही हैं। ये तो फंडिंग लेकर आन्दोलन करतें हैं। इसलिए वहां पैसा से भीड़ ले जाते हैं। इसलिए काजू बादाम व शराब पिलाते हैं। और नशे में वो अंधे हो जाते हैं। ठाकुर ने पत्रकार वार्ता के दौरान यह भी कहाँ कि भारतीय किसान यूनियन भानू के सभी पदाधिकारियों व किसानों से निवेदन है। कोरोना काल में लाकँडाउन का पालन करें और अपनी फसल उगाये और एक दूसरें किसान की मदद करें कोरोना से लगातार मौतों का आकंडा बढ रहाँ है। इसलिए भानू प्रताप सिंह ने अपील की कि देश में शान्ती बनायें रखें सत्यमेव जयते का नारा भी दिया कि सत्य की जीत हमेशा हुईं और हमें विश्वास है। कि यूपी का निवासी हूँ। इसलिए हमारे यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ केन्द्र सरकार से मिलकर किसानों की व भारतीय किसान यूनियन भानू की मांगो को मनवायेंगे भानु प्रताप सिंह ने सिंचाई विभाग से नहर बंबो राजवाहो में पानी देने की बात कहीं विघुत विभाग से विघुत आपूर्ति देने की बात कहीं इनसे किसानों समस्याओं का समाधान भी होंगा। किसानों से स्वाथ्य विभाग के अधिकारियों की मदद करनें की बात कहीं भानु प्रताप सिंह ने कहाँ कोरोना टैस्ट करायें और वैक्सीन लगवाये जल्द ही कोरोना से किसान व्यापारी अधिकारी जंग जीतेगें।

रिपोर्ट : मोहित शर्मा

यह भी पढ़े : जाने क्यों शव यात्रा मे राम नाम का नारा लगाया जाता है।

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

http://is.gd/ApbsnE

sasni new wave