Visitors have accessed this post 48 times.

हाथरस : जिलाधिकारी रमेश रंजन ने कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति शासी निकाय की जनपद स्तरीय मासिक समीक्षा बैठक करते हुये स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं में अपेक्षित सुधार लाने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को सीएचसी/पी0ए0सी0 के प्रभारियों को निर्धारित दवाईओं से सम्बन्धित सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिये तथा समस्त प्रभारियों को अस्पताल में उपलब्ध दवाईओं का मिलान सूची से करने के पश्चात आवश्यक दवाईयों को जिला अस्पताल से प्राप्त करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सी0एच0सी0/पी0एस0सी0 पर प्रचुर मात्रा में दवाई साफ सफाई, वार्ड बाॅय उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर प्रसव दर कम होने पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त की तथा सरकारी अस्पतालों में अधिक से अधिक प्रसव कराना सुनिश्चित निर्देशित किया गया। टीकाकरण में हाथरस, सादाबाद सि0राऊ, हसायन, महौ तथा मुरसान में प्रगति संतोषजनक न होने पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी को अपने स्तर से मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए। राष्ट्रीय अंधता एवं दृष्टि क्षीणता में प्रगति खराब होने पर तैनात नाराजगी व्यक्त की और अपेक्षित सुधार करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने जनपद में राष्ट्रीय कुष्ठ रोग उन्मूलन कार्यक्रम से संबंधित जानकारी ली। स्वास्थ्य सेवाओं हेतु संचालित 108 नम्बर की 20 एंबुलेंस, 102 नम्बर 18 एंबुलेंस एवं एडवांस लाइफ सपोर्ट के 3 वाहन संचालित हैं । जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये कि स्वास्थ्य सेवाओं हेतु संचालित 108 नम्बर की एंबुलेंस को कोविड-19 के कार्य हेतु प्रयोग में लाया जाये। जिलाधिकारी ने बैठक के दौरान कहा कि किसी भी दशा में फर्जी आंकड़े प्रस्तुत न किये जाये, त्रुटिपूर्ण आंकड़े पाये जाने पर सम्बन्धित के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी ।जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को विभाग द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की रैंकिंग में सुधार लाने के निर्देश दिए। आयुष्मान भारत तथा प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अन्तर्गत जनपद में कुल लाभार्थी परिवारों 70360, कुल लाभार्थी 3,51,800 जनपद में बनाये गये गोल्डन कार्ड 1,01,123 बनाये गये हैं तथा जनपद में 1,03,268 आयुष्मान कार्ड बनाये गये हैं। जिलाधिकारी ने समस्त एम0ओ0आई0सी0 को गोल्डन कार्ड बनाने में प्रगति लाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जिन एम0ओ0आई0सी0 की प्रगति संतोषजनक नहीं है, उसमें सुधार लाने के निर्देश दिये। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही को सहन नहीं किया जायेगा।
जिलाधिकारी ने मातृ स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत संचालित प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम, राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम, परिवार कल्याण कार्यक्रम, नियमित टीकाकरण कार्यक्रम, राष्ट्रीय अंधता निवारण, पुनरीक्षित राष्ट्रीय क्षय नियंत्रण कार्यक्रम,पी0सी0पी0एन0डी0टी0 कार्यक्रम आदि कार्यक्रमों की प्रगति की समीक्षा की। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आर0बी0 भास्कर, अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) जे0पी0 सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 चन्द्रमोहन चतुर्वेदी, सी0एम0एस डा0 आई0बी0 सिंह, सी0एम0एस0 (महिला अस्पताल) डा0 उपेन्द्र गोयल, डी0आई0ओ0 डा0 बिजेंन्द्र सिंह, डा0 संतोष कुमार, डा0 डी0के0 अग्रवाल, डी0पी0एम0 डा0 बलवीर वर्मा, डी0टी0ओ0 डा0 अनिल सागर वशिष्ठ, डा0 पवन कुमार, होम्योपैथिक अधिकारी डा0 हरीश कुमार, डा0 आर0एन0 सिंह, जिला मलेरिया अधिकारी डा0 मुकेश जौहरी, डब्ल्यू0एच0ओ0 की प्रतिनिधि डा0 प्रीती राघव, जिला कुष्ठ रोग अधिकारी, समस्त प्रभारी चिकित्साधिकारी, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, प्रतिरक्षण अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी तथा अन्य संबंधित अधिकारीगण मौजूद रहे।

इनपुट : बृजमोहन ठैनुआ

यह भी पढ़े : जाने क्यों शव यात्रा मे राम नाम का नारा लगाया जाता है।

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

http://is.gd/ApbsnE

sasni new wave