Visitors have accessed this post 95 times.

दिल्ली : गुरु नानक देव जी के प्रकाश पर्व पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीनों कृषि कानून वापस लेते हुए किसानों से आंदोलन खत्म करके घर लौटने की मांग की है। प्रधानमंत्री के इस फैसले से किसानों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी। कहीं ढोल नगाड़ों की थाप पर किसान नाच रहे हैं, तो कहीं मिठाइयां बांटी जा रही हैं। वहीं दूसरी तरफ विपक्षी पार्टियों ने सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। विपक्षी पार्टियां सरकार के इस फैसले को चुनाव को मद्देनजर रखते हुए लिया गया फैसला बता रही हैं।

शुक्रवार यानी आज गुरु नानक देव जी प्रकाश पर्व है। आज के दिन प्रधानंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के किसानों को बड़ा तोहफा दिया। उन्होंने तीनों कृषि कानून वापस लेने का फैसला लिया। उन्होंने किसानों से घर वापस लौटने की अपील की है। उन्होंने घोषणा की कि इसी महीने इस फैसले को संवैधानिक रूप दे दिया जायेगा। सरकार का यह फैसला ऐसे समय पर आया जब कुछ ही समय के बाद विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। विपक्षी पार्टियों ने सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। विपक्षी पार्टियों का कह रही हैं कि सरकार ने यह फैसला चुनावों के मद्देनजर लिया है। पर जो भी हो सरकार के फैसले से किसान काफी खुश नजर आ रहे हैं। किसान कहीं ढोल नगाड़ों पर नाचते हुए नजर आ रहे हैं तो कहीं मिठाइयां बांटते हुए। किसान मान रहे हैं कि कारण जो भी हो कानून वापस ले लेना स्वागत योग्य फैसला है। किसान सरकार के फैसले का स्वागत कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ किसान नेता राकेश टिकैत किसानों के साथ अभी भी दिल्ली में टिके हुए हैं। वे कह रहे हैं कि जब तक इस फैसले को संवैधानिक रूप नहीं दिया जाता तब वे नहीं लौटेंगे।

अपनी क्षेत्रीय ख़बरों के तुरंत डाउनलोड करें TV30 INDIA चैनल का एंड्राइड ऐप – http://is.gd/ApbsnE