Visitors have accessed this post 45 times.

सामग्री –

मैदा- 2 कप (250 ग्राम)

घी- ¼ कप (50 मिली) (मोयन)

मावा- 1 कप (200 ग्राम)

चीनी- 1 कप (250ग्राम)

पाउडर चीनी- ½ कप (75 ग्राम)

बादाम- 2 टेबल स्पून

पिस्ते- 1 टेबल स्पून

काजू- 2 टेबल स्पून

इलाइची पाउडर- 1 छोटी चम्मच

केसर के धागे- 15 से 20

घी – तलने के लिए

विधि – 

किसी बड़े प्याले में मैदा लीजिए और इसमें ¼ कप घी डाल दीजिए. घी को मैदा में मिलने तक मिक्स कर लीजिए. इसमें थोड़ा थोड़ा पानी डालते हुए नरम आटा गूंथकर तैयार कर लीजिए.आटे को सिर्फ बाइन्ड करना है, मसल-मसलकर चिकना नही करना है. इतना आटा लगाने में ½ कप पानी का इस्तेमाल हुआ है. आटे को ढककर 20 मिनिट के लिए रख दीजिए जिससे आटा सैट हो जाएगा.

काजू को छोटा छोटा काट लीजिए. बादाम के भी छोटे टुकड़े कर लीजिए और पिस्ते भी बारीक काट लीजिए.

मावा स्टफिंग बनाएं

कढा़ही को गैस पर रखें कढा़ई में मावा को बारीक तोड़कर डाल दीजिए. गैस जलाएं लीजिए और मीडियम और धीमी गैस पर मावा को लगातार चलाते हुए हल्का सा  भून लीजिए. मावा से घी निकल आया है, रंग भी बदल गया है और अच्छी खुश्बू आ रही है, मावा भुनकर तैयार है. गैस बंद कर दीजिए और मावा को निकालकर प्लेट में रख लीजिए ताकि यह जल्दी ठंडा हो जाए.

मावा ठंडा होने पर इसमें पाउडर चीनी डाल दीजिए. साथ ही थोड़े से कटे हुए काजू, बादाम और पिस्ते भी डाल दीजिए. सारी सामग्रियों को अच्छे से मिलने तक मिला लीजिए. स्टफिंग में ½ छोटी चम्मच इलायची पाउडर भी डालकर मिक्स कर लीजिए. सारी चीजों के अच्छे से मिल जाने के साथ ही कचौरियों के लिए स्टफिंग तैयार है.

 

चाशनी बनाइए

गैस पर एक बड़ा बर्तन रखें इसमें चीनी डालिए और इसमें आधा कप पानी डाल कर चीनी को पानी में घुलने तक पका लीजिए. बीच-बीच में इसे चला लीजिए. चीनी पानी में पूरी तरह से घुल जाने पर चाशनी की 1 से 2 बूंदे अलग प्याले में गिराइए और थोड़ा सा ठंडा होने दीजिए. इसके बाद चाशनी को चैक कीजिए अगर छोटा सा एक तार उंगली और अँगूठे के बीच बन रहा है तो चाशनी बनकर तैयार है, गैस बंद कर दीजिए. चाशनी में भी ½ छोटी चम्मच इलाइची पाउडर और केसर के धागे डाल दीजिए. इन्हें मिला दीजिए और चाशनी को उतारकर जाली स्टैन्ड पर रख दीजिए.

कचौरी बनाएं

20 मिनिट में आटा भी सैट होकर तैयार है. आटे को बिल्कुल थोड़ा सा मसल लीजिए और आटे से छोटी छोटी लोइयां तोड़कर तैयार कर लीजिए. साथ ही गैस पर कड़ाही में घी गरम होने रख दीजिए. एक लोई उठाकर गोल कर लीजिए और उंगली और अंगूठे की सहायता से इसे बढ़ाकर कटोरी का आकार दे दीजिए. इसमें 1 से 2 छोटी चम्मच स्टफिंग रख लीजिए. स्टफिंग को थोड़ा सा दबा लीजिए और मैदे को चारों ओर से उठाकर स्टफिंग को बंद कर दीजिए. इसे थोड़ा सा हाथ से दबाकर चपटा कर दीजिए.

कचौरी को हथेली से दबा-दबाकर बढ़ा कर लीजिए और ध्यान रखे कि कही से फटे नही. तैयार कचौरी को प्लेट में रख लीजिए और इसी तरह से बाकी कचौरियां भरकर बढ़ाकर तैयार कर लीजिए. तीन कचौरियां तैयार करने के बाद घी चैक कर लीजिए कि घी गरम हुआ कि नही. घी में बिल्कुल जरा सा आटे का टुकड़ा डाल दीजिए.आटा सिक रहा है. कचौरियां तलने के लिए हल्का गरम घी चाहिए और आग भी धीमी होनी चाहिए. इतने ही गरम घी में कचौरियां तलने के लिए डाल दीजिए. धीमी आग पर कचौरियां सिकने दीजिए और इसी बीच बाकी कचौरियां भी तैयार कर लीजिए.

Input : Sapna saxena

यह भी देखें : इस उद्योगपति ने उत्तर प्रदेश के विकास में दिया योगदान और बना यूपी का नायक

अपनी क्षेत्रीय ख़बरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA चैनल का एंड्राइड ऐप –

http://is.gd/ApbsnE

sasni new wave