Visitors have accessed this post 42 times.

हापुड़ में लग रहे प्रतिदिन जाम से मुक्ति को यूं तो यातायात रोज नियम कानून बनाकर रोकने का प्रयास कर रहा है लेकिन जाम के झाम से मुक्ति नहीं मिल पा रही है मुक्ति मिले भी तो कैसे जब नो एंट्री जोन में भारी वाहन का आवागमन है जारी
नो एंट्री में भारी वाहन लगातार ओवरलोड के साथ एंट्री कर रहे हैं क्या यातायात विभाग इससे अनजान है क्या भारी ओवरलोड वाहन पर यातायात नियम लागू नहीं होते। क्या कुछ खर्चा पानी लेकर वाहनों को निकालने में लगे हैं यातायात कर्मचारी। या कोई निजी स्वार्थ के कारण यातायात के नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही। वहीं हापुड़ जनपद मुख्यालय में करीब 5000 ई-रिक्शा चल रही है जिसमें मात्र 1436 ही रजिस्टर्ड हैं बाकी अवैध तरीके से सड़क पर दौड़ लगाते हुए देखी जा सकती हैं जिनसे यातायात को बाधित तो होता ही है कोई घटना या दुर्घटना का अंदेशा भी बना रहता है जिनसे हापुड़ में जाम की समस्या भी उत्पन्न होती हैं। वही यात्रा प्रभारी तहजीब उल हसन ने त्योहारों के मद्देनजर ई-रिक्शा का रूट मैप बनाया है इसको अमल होने में शायद समय लगेगा

INPUT – प्रमोद शर्मा

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here