Visitors have accessed this post 428 times.

हाथरस : बच्चों के जन्म में अन्तर चाहने वाली हाथरस जिले की एक हजार से भी अधिक (1276) महिलाओं ने स्वास्थ विभाग द्वारा परिवार नियोजन अभियान को धारदार बनाने वाले इंजेक्शन अंतरा को अपनाया और यह ही नहीं इसही अभियान में सहायक बनी गर्वनिरोधक टेबलेट को भी कयी सौ (471) महिलाओं ने अपनाया ।

आपको बतादें कि हाथरस में 1276 महिलाओं ने अंतरा इंजेक्शन को अपनाया है। अब देखा जा रहा है कि धीरे धीरे ही सही पर लोग परिवार नियोजन के प्रति जागरूक हो रहें हैं। नसबंदी हो या फिर स्वास्थ्य विभाग द्वारा शुरू किये गये गर्भनिरोधक अंतरा और छाया हो, महिलाओं ने इन्हें अपनाने में काफी रूचि दिखाई है। स्वास्थ्य विभाग ने परिवार नियोजन को ध्यान में रखते हुए गर्भनिरोधक अंतरा इंजेक्शन और छाया नाम की टेबलेट की शुरूआत की थी।

क्या कहा जिला महिला अस्पताल के सीएमएस ने

जिला महिला अस्पताल के सीएमएस डा.रूपेंद्र गोयल ने बताया कि अंतरा इंजेक्शन व छाया गोली परिवार नियोजन का सबसे अच्छा साधन है। जिला महिला अस्पताल में दोनों ही विकल्प निःशुल्क उपलब्ध् है। अभी तक 1276 महिलाओं को अंतरा इंजेक्शन और 471 महिलाओं को छाया गोली का लाभ मिला चुका है। अप्रैल 2018 से यह सुविधा हमारे यहां निरंतर जारी है। इसका प्रचार-प्रसार भी लगातार किया जा रहा है।

जानें कौन लगवा सकता यह इंजेक्शन

डिलीवरी के बाद स्तनपान कराने वाली महिलाऐं, डिलीवरी के 6 सप्ताह बाद, जो महिला 2 बच्चों में अंतर रखना चाहती है। पहला इंजेक्शन माहवारी शुरू होने के 7 दिन के अंदर, प्रसव होने के 6 सप्ताह के बाद, गर्भपात होने के बाद 7 दिन के अंदर लगवा सकते हैं।

कहां से जानें महिलाएं और अधिक जानकारी

महिलाऐं टोल फ्री पर भी ले सकती हैं परामर्श। अंतरा इंजेक्शन लगवाने वाली महिलाऐं सलाह लेने के लिए अंतरा टोल फ्री नंबर 18001033044 पर महिला विशेषज्ञ से बात भी कर सकती है।

रिपोर्ट : राजदीप तोमर

यह भी देखे : चटपटी दाल गुजिया बनाने की घरेलू रेसिपी

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.tv30ind1.webviewapp