Visitors have accessed this post 34 times.

सिकन्दराराऊ : सिकन्दरा राऊ तहसील के गाँव देवर पनाखर के पंकज कुमार द्वारा तहसील दिवस में जिलाधिकारी से की गयी शिकायत के आधार पर गाँव के विकास कार्यों की जाँच की गयी।  शिकायत में ग्रामीणों ने गाँव पंचायत के समस्त विकास कार्यों में हुई लापरवाही का आरोप लगाया था और विकास कार्यों की जांच कराने की मांग की थी । जिलाधिकारी के आदेश पर विकास कार्यों की जाँच के लिए दो सदस्यीय जाँच समिति गठित की गयी। जिला उद्यान अधिकारी और सहायक अभियंता ने गाँव पहुँचकर विकास कार्यों की पड़ताल की। जाँच अधिकारियों को कीचड़ के कारण गाड़ी बाहर खड़ी करके पैदल जाना पड़ा। मौके पर ग्राम प्रधान नहीं मिली, केवल प्रधान पति से वार्ता की गई तो उन्होंने यह बताया कि प्रधान जी रिस्तेदारी में गई हुई है किसी बीमारी के कारण अपने रिश्तेदार को देखने के लिये और हमारे प्रति जो शिकयायत कि गई है वह निंदनीय है जो आरोप प्रत्यारोप लगाये गए है वह निराधार गलत है खुद इन्ही शिकयायत कर्ताओ को गाँव के अंदर शौचालय बनाबए थे उनके अंदर कंडे भर रखे हैं इन लोगो के आरोप गलत हैं और गांव के अंदर ही अधिकारियों की बातचीत हुई। जाँच में विकास कार्य असंतोषजनक पाए गए। इंटरलॉकिंग में किसी भी प्रकार की गिट्टी नहीं पायी गयी। शौचालय निर्माण कार्य अधूरा पाया गया, जिनमें छत और गड्ढों का निर्माण नहीं हुआ था। हेण्डपम्प में हत्था, मशीन कुछ भी नहीं पाया गया, जबकि कागजों में मरम्मत कार्य पूर्ण हो चुका है। गाँव में कोई भी कूड़ादान नहीं पाया गया। पूरे गाँव में हर रास्ते पर कीचड़ मिली, पानी के निकास का कोई बंदोबस्त नहीं है। जाँच के समय पंकज कुमार, बबलू यादव, मास्टर सिंह, अशोक डीलर, लायक सिंह, छोटे यादव, मेघ सिंह, विनोद, राजाराम, काकू, कैलाश, रामनिवास आदि ग्रामीण मौजूद थे।

इनपुट :- ब्यूरो रिपोर्ट

यह भी पढ़े ; हाथरस : ऋण दिलाने के नाम पर धोखाधडी कर रुपये ऐंठने वाले सक्रिय गिरोह के चार सदस्य गिरफ्तार 

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.tv30ind1.webviewapp

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here