Visitors have accessed this post 31 times.

सासनी : केनरा बैंक के बैनर तले संचालित ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान में अलीगढ़ मंडल के आयुक्त गौरव दयाल ने बीसी सखी के दूसरे प्रशिक्षण बैच का शुभारंभ मां सरस्वती के छविचित्र के सामने दीप जलाकर एवं माल्यार्पण कर किया। आयुक्त ने प्रथम बैच की प्रशिक्षणार्थी महिलाओं को प्रमाण पत्र बांटे।
गुरूवार को प्रशिक्षण के शुभारम्भ में मण्डलायुक्त ने कहा कि इस प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य अपनी ही गॉव में डिजिटल लेने देन करने के लिये जैसे मनरेगा, योजनान्तर्गत मिलने वाली मजदूरी, स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत शौचालय निर्माण के लिये उपलब्ध करायी जाने वाली धनराशि, प्रधानमंत्री आवास योजना के लिये उपलब्ध धनराशि आदि शासन की योजनाओं का आहरण अपने ही गॉव में ही हो। ताकि बहुत बडी राशि बी.सी. सखी के माध्यम से ही ट्रान्जेक्शन हो एवं ग्रामीणों को अपनी ही ग्राम पंचायत में बैक की सुविधा उपलब्ध कराने में मदद मिल सकेगी तथा बिजली बिल, टेलीफोन बिल आदि बिलों का भुगतान भी इसके माध्यम से किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि बीसी सखी एक ऐसी योजना है, जिसके माध्यम से बैंक स्वंय गांव में पहुंचे और लोगों की सेवा करे। इससे लोगों को समय व धन की बर्बादी को रोका जासके। एजीएम क्षेत्रीय कार्यालय अलीगढ़ रोहित कुमार ने बताया कि 31 बीसी सखी महिलाओं का प्रशिक्षण पूरा हो चुका है। बीसी सखी का गांव में डिजीटल इंण्डिया प्रमोट करने के लिए बड़ा योगदान होगा। बीसी सखी बैंक एवं गांव लोगों के बीच का माध्यम है। जिन लोगों को बुजुर्गों को अशिक्षित महिलाओं को बैंक में जाने पर परेशानी का सामना करना पडता है। उसके लिए लेनदेन गांव में ही होने लगेगा। इस मौके पर डीएम रमेश रंजन, सीडीओ आरबी भास्कर, एसपी विनीत जैसवाल, एसडीएम राजकुमार यादव, एलडीएम कार्तिक कुमार, मोहित, प्रधानाचार्य तथा अन्य सम्बन्धित अधिकारी एवं प्रशिक्षण प्राप्त करने वाली बीसी सखी मौजूद थीं।

input : avid hussain

यह भी देखे : क्या आपने देखी है मिठाइयों की इतनी वैरायटी

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.tv30ind1.webviewapp

 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here