Visitors have accessed this post 37 times.

एटा : महिला थाने में संचालित परिवार परामर्श केंद्र में आज पांच टूटे हुए परिवारों को दुबारा से मिलाते हुए एक किया, जिनको खुशी खुशी विदा भी किया गया।

पहला मामला कोतवाली नगर एटा के मोहल्ला किदवईनगर निवासी नेहा सैफी पुत्री यूसुफ सैफी और उसके पति वली मोहम्मद पुत्र मोहम्मद उमर निवासी करीमनगर थाना सिकन्दराराऊ हाथरस का है। जिसकी शादी के बाद विवाद के चलते पत्नी मायके में रह रही थी, आज दोनो को बुलाकर आपसी मतभेद दूर कराकर दोनो को विदा किया गया। वही दूसरा मामला सीमा पुत्री चमन प्रकाश निवासी बंदुपुरा थाना जैथरा एटा और हरिभान पुत्र अमर सिंह निवासी ग्राम रसूलपुर थाना मलावन का है दोनो विवाद के चलते अलग रह रहे थे, इन दोनों की गलतफहमी को दूर कराते हुए साथ साथ विदा किया गया। तीसरा मामला मिथलेश देवी पुत्री सर्वेश ग्राम अमरगोजिया थाना कोतवाली देहात और राहुल पुत्र चन्द्रपाल निवासी ग्राम रामपुर थाना निधौली कलां का है इन दोनों के भी मतभेद दूर कराकर विदा किया गया। वही चौथा मामला बेबी पुत्री राम भजन निवासी नगला पोता थाना कोतवाली नगर और सहदेव पुत्री गंगा सिंह निवासी ग्राम बरहना थाना मिरहची का है इन दोनों की शादी को 15 साल हो चुके थे, मगर आपसी मतभेद के चलते पत्नी डेढ़ साल से मायके में रह रही थी, इनके चार बच्चे भी हैं, इन दोनों को भी समझा बुझाकर विदा किया गया। इस बैठक में परिवार परामर्श केंद्र प्रभारी कंचन कटियार, इन्स्पेक्टर क्राइम ब्रांच के पी सिंह, काउन्सलर अकरम खान, अशोक कुमार के अलावा महिला थाने का स्टाफ मौजूद रहा। वही पांचवां मामला निर्मला देवी पत्नी सुनील कुमार निवासी राई थाना अलीगंज एटा का है। जो आपसी मनमुटाव के चलते अलग अलग रह रहे थे दोनों पक्षों को बुलाकर एक-दूसरे के गिले-शिकवे मिटाकर एक कराया गया जिनको खुशी-खुशी थाने से विदा किया गया। दोनों पक्षों में सुलह समझौता कराने में हेड कांस्टेबल सगीर खान, महिला हेड कांस्टेबल स्मृति सिंह, कांस्टेबल मनीष कुमार, कांस्टेबल गौरव कुमार मौजूद रहे।

रिपोर्ट : मोहित शर्मा