Visitors have accessed this post 29 times.

एटा : शासन द्वारा नामित नोडल अधिकारी बाबूलाल मीना, प्रमुख सचिव सहकारिता उत्तर प्रदेश शासन ने अपने भ्रमण कार्यक्रम के दौरान रविवार को जनपद में भ्रमण कर स्वास्थ्य सेवाओ, साफ सफाई एवं विभिन्न पहलुओं पर औचक निरीक्षण कर जायजा लिया। उन्होंने इस दौरान मौजूद अधिकारियों को निर्देश दिए कि वर्तमान में संचारी रोगों से रोकथाम हेतु साफ सफाई पर प्रमुखता से जोर दिया जाए। कार्यालय कैंपस, अस्पताल परिसर में समुचित साफ-सफाई रहनी चाहिए।
नोडल अधिकारी ने कहा कि अस्पताल में आने वाले बुखार एवं डेंगू से पीडि़त मरीजों को शासन की मंशा अनुसार इलाज मुहैया कराया जाए, उनकी देखभाल में किसी भी स्तर पर कोताही नहीं होनी चाहिए। नोडल अधिकारी ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मिरहची एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जलेसर का निरीक्षण कर कैंपस में समुचित साफ-सफाई रखने के निर्देश दिए, इसके अलावा उन्होंने मौजूद चिकित्सकों से वार्ता कर बुखार के मरीजों की देखभाल के संबंध में विस्तृत जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि बुखार एवं डेंगू से संबंधित दवाओ की उपलब्धता अस्पताल में रहनी चाहिए।
नोडल अधिकारी ने मारहरा नगर पालिका क्षेत्र में सामुदायिक शौचालय, नगर पालिका परिषद मारहरा कार्यालय, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मिरहची, विकास खंड कार्यालय मारहरा, कॉपरेटिव बैंक, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जलेसर एवं ओडीओपी के तहत संचालित इकाई सावित्री ट्रेडर्स जलेसर पहुंचकर निरीक्षण किया एवं मौजूद अधिकारियों को समस्या दिशा निर्देश दिए। नोडल अधिकारी एवं जिलाधिकारी ने 501 किलो का घंटा भी बजाया।
इस अवसर पर जिलाधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल, मुख्य विकास अधिकारी डॉ अवधेश कुमार बाजपेई, अपर जिलाधिकारी प्रशासन विवेक कुमार मिश्र, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी एसपी सिंह, उप जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह, एआर कॉपरेटिव महावीर सिंह, जीएमडीसी बांकेलाल सहित अन्य संबंधित अधिकारी, कर्मचारी आदि मौजूद रहे।

रिपोर्ट — मोहित शर्मा