Visitors have accessed this post 488 times.

जिनका जन्म 2 अक्टूबर 1942 मे गुजरात में हुआ था। सुधा और बच्चूभाई पारेख, जो गुजराती बनिया थे। और आशा पारेख जी भी गुजराती हैं।उनकी माँ ने उन्हें कम उम्र में भारतीय शास्त्रीय नृत्य कक्षाओं में दाखिला दिलाया और उन्होंने पंडित बंसीलाल भारती सहित कई शिक्षकों से नृत्य सीखा। आशा आजीवन अविवाहित रही।आशा पारेख ने अपने करियर की शुरुआत बाल कलाकार के रूप में बेबी आशा पारेख नाम से की थी। अभिनेत्री, निर्माता और निर्देशक हैं। वह 1959 से 1973 के मध्य सर्वश्रेष्ठ तारिकाओं में से एक थीं। 1992 में, उन्हें भारत सरकार द्वारा पद्म श्री के साथ सम्मानित किया गया। आशा पारेख 60 के दशक की मशहुर अभिनेत्रियों में से एक है। 1959 से लेकर 1973 तक वह बॉलीवुड फिल्मों की टॉप अभिनेत्रियों में शामिल रही।बहुत कम उम्र से ही उन्होंने फिल्मों में काम करना शुरू कर दिया।17 साल की उम्र में उन्होंने बतौर अभिनेत्री फिल्म ‘दिल दे के देखो’ जोकि शम्मी कपूर के साथ थी, में अभिनय किया।और वह फ़िल्म दर्शकों को खूब पसंद आई। फ़िल्म बहुत हिट हो गई साथ ही आशा पारेख जी का भी सफल फ़िल्मी सफ़र शुरू हो गया।उन्होंने बहुत सारे अवार्ड भी जीते है।

input: komal agrawal

यह भी पढ़े : मार्च माह मे रिलीज़ होने वाली मूवीज़

अपने क्षेत्र की खबरों के लिए डाउनलोड करें TV30 INDIA एप

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.tv30ind1.webviewapp