Visitors have accessed this post 99 times.

आमतौर पर जब बेवफाई की बात आती है तो हमारे जेहन में पुरुषों का ख्याल आता है। लेकिन अब महिलाएं भी अपने पार्टनर के साथ बेवफाई करने में हिचकिचाती नहीं है। कई बार ऐसा होता है कि आपको उनके अंदर आने वाले बदलाव से इसका अंदेशा हो जाता है लेकिन आपके लिए इसको साबित करना मुश्किल हो जाता है तो आईए हम आपको बताते हैं महिलाओं में बेवफाई के लक्षण क्या होते हैं।

बेवफाई के मामले प्राय: तब देखने में आते हैं जब लोग अपनी आधी उम्र पार कर चुके होते हैं हालांकि हमेशा ऐसा ही होना जरूरी नहीं है। इसे मध्य-जीवन का संकट या एकरूपता का परिणाम कहा जा सकता है लेकिन व्यक्ति को विभिन्न कारणों जैसे कि उम्र बढ़ने, तनाव और जीवन की नीरसता के कारण अपना महत्व  घटते जाने का अहसास आमतौर से होता है। जीवन में कुछ नया रस-रोमांच भरने की लालसा व्यक्ति को अपने साथी से बेवफाई करने को प्रेरित कर सकती है।

 

हालांकि इस बारे में लोगों की राय अलग-अलग है लेकिन ऐसे व्यवहार को बेवफाई मानने का एक सीधा सा नियम यह है कि यदि यह आपके अपने साथी से आपसी सम्बन्ध को प्रभावित करना शुरू कर दे तो यह बेवफाई है। पोर्नोग्राफी देखने को दूसरों के गोपनीय जीवन में ताकाझांकी करने की मानव की स्वाभाविक प्रवृत्ति के रूप में समझा जा सकता है और यह तब तक हानिकारक नहीं है जब तक इसकी लत न पड़ जाए और जब तक यह आपके निजी जीवन पर असर डालते हुए आपके आपसी सम्बन्ध को प्रभावित करना शुरू न कर दे।

अजनबियों से इंटरनेट पर चैटिंग करना भी मंजूर किया जा सकता है यदि इसे प्रोफेशनल या सोशल कारणों से नए लोगों से नेटवर्किंग के तरीके के रूप में माना जाए। समस्या तब खड़ी हो सकती है जब आपकी भावनाएं आपके अपने साथी के बजाय आपके कंप्यूंटर पर आने वाले मित्र से जुड़ जाएं और इस तरह किसी अन्य से इलेक्ट्रॉनिक बातचीत में आपका वह कीमती वक्त जाया होने लगे जो आपको अपने साथी को देना चाहिए था। जहां तक साइबर-सैक्स का मामला है यह पक्षपातपूर्ण विषय है क्योंकि कुछ लोगों के लिए यह अपने साथी को धोखा देने जैसा है वहीं कुछ लोगों के लिए विशुद्ध मनोरंजन।

 

यह कोई नुकसान नहीं पहुंचाता लेकिन ऐसी गतिविधियों की लत पड़ जाना सच में आपके अपने सम्बन्ध के लिए खतरा उत्पन्न  कर सकता है। इसलिए जब तक तथाकथित ‘इंटरनेट बेवफाई’ आपके घनिष्ठ सम्बन्ध को प्रभावित न करे, यह चिंता का कारण नहीं बननी चाहिए लेकिन ऐसे व्यवहार की लत लग जाने से आपसी तालमेल गड़बड़ा सकता है। इसके अलावा ऐसा जुनून, ऐसे व्यवहार की मांग हकीकत में भी कर सकता है जिसकी जांच की जानी चाहिए।

Input shivam

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here